Pages

Saturday, August 25, 2012

हर कक्षा में दाखिला फीस लेना गैरकानूनी

रोहतक : निजी स्कूल पहली, छठी, नौंवी व ग्यारहवीं कक्षा में ही दाखिला फीस ले सकते हैं। इसके अलावा किसी भी कक्षा में दाखिला फीस लेना गैरकानूनी है। नियम 134-ए के तहत आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों के लिए सरकारी स्कूलों के हिसाब से दाखिला फीस देनी होगी। सतबीर सिंह हुड्डा ने बताया कि 23 अगस्त को उनकी याचिका पर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई थी। इस दौरान शिक्षा विभाग की प्रिंसिपल सेक्रेटरी सुरीना राजन ने साफ कर दिया कि निजी स्कूल हर वर्ग से केवल पहली, छठी, नौवीं व ग्यारहवीं कक्षा में ही दाखिला फीस ले सकते हैं।