Pages

Saturday, October 13, 2012

JBT/C&V Transfer Policy + SCERT/DIET Cadre News

जेबीटी टीचरों का हो सकेगा दूसरे जिलों में तबादला
हरियाणा सरकार ने जारी की नई नीति
Click Here for Policy/Form

चंडीगढ़। हरियाणा के सरकारी स्कूलों में कार्यरत जेबीटी और सीएंडवी टीचरों का तबादला अब दूसरे जिलों में भी हो सकेगा। प्राथमिक स्कूल शिक्षा निदेशालय ने शुक्रवार को तबादला नीति जारी कर दी। टीचर लंबे अरसे से इसकी मांग कर रहे थे।

मेवात जिले में सिर्फ म्यूचुअल तबादले हो सकेंगे।
 राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ की तरफ से महासचिव दीपक गोस्वामी ने नीति का स्वागत किया है और मेवात जिले को भी पूरी तरह शामिल करने की मांग की है। अभी जेबीटी टीचरों का कैडर जिला स्तर का है। जिस जेबीटी टीचर की नियुक्ति जिस जिले में होती है रिटायरमेंट तक उसी जिले में तैनाती रहती है। दूसरे जिले में तबादला करने का अभी तक प्रावधान नहीं था।

जारी तबादला नीति के अनुसार 15 नवंबर तक तबादले के इच्छुक टीचरों को आवेदन करना होगा। म्यूचुअल तबादले में दोनों टीचरों को हस्ताक्षर करने होंगे। तबादले के बाद दूसरे जिले में जाने वाले टीचर को अपनी पहली वरिष्ठता खोनी होगी और दूसरे जिले में जाने के बाद वह टीचर सबसे जूनियर माना जाएगा। इसके लिए उन्हें शपथ पत्र भी देना होगा।

तबादला नीति में विकलांग, विधवा, तलाकशुदा महिला शिक्षकों, गंभीर बीमारी से ग्रसित शिक्षकों, अविवाहित महिला टीचरों, सैनिक पत्नियों, जोड़ा केस (कपल) को प्राथमिकता दी जाएगी। इस पालिसी का सबसे ज्यादा लाभ महिला शिक्षकों को मिलेगा। एडहॉक या गेस्ट टीचरों को इस पालिसी का लाभ नहीं मिलेगा। सभी आवेदनों को जिला प्राथमिक शिक्षा अधिकारी विशेष संदेशवाहक के जरिए निदेशालय भिजवाएंगे। बिना निदेशालय की मंजूरी के कोई भी तबादला नहीं होगा।

डाइट और एससीईआरटी का टीचर कैडर बनेगा

चंडीगढ़ - जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डाइट) और राज्य शैक्षणिक अनुसंधान तथा प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) का एक टीचर कैडर बनाया गया है। इसकी मंजूरी मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने समीक्षा बैठक में वीरवार रात को दी। इसके अलावा मेवात, पलवल, झज्जर और फतेहाबाद में नए डाइट खोलने को भी मंजूरी दी गई।

अंबाला, सिरसा, रतिया (फतेहाबाद) में ब्लाक शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान खोलने को भी मंजूरी दी गई। इस समय में एससीईआरटी समेत 17 डाइट, दो सरकारी प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान (जीईटीटीआई) चल रहे हैं। इनमें लेक्चरर, सीनियर लेक्चरर, प्रधानाचार्य, उप निदेशक, संयुक्त निदेशक और स्कूल शिक्षा विभाग का कैडर एक है। इनमें से कई राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद द्वारा निर्धारित जरूरी योग्यता पूरी नहीं करते इसलिए एससीईआरटी तथा डाइट एवं जीईटीटीआई का एक कैडर बनाया गया है।