Pages

Sunday, June 8, 2014

आठ माह से पदोन्नति के इंतजार में 7 हजार शिक्षक

शिक्षा निदेशालय में आठ महीने से प्रदेशभर के सात हजार शिक्षकों के पदोन्नति केस सिर्फ हस्ताक्षर की वजह से अटके हुए हैं। पदोन्नति के लिए निदेशालय में 28 अधिकारियों के हस्ताक्षर होते हैं, लेकिन वहां कर्मचारियों की कमी बताकर फाइलें ठंडे बस्ते में रख दी गईं हैं। शिक्षक अब आंदोलन की तैयारी में हैं। उनका कहना है कि पहली पदोन्नति के लिए दस साल इंतजार किया है। समय आया तो विभाग ढील बरत रहा है। पदोन्नति के लिए इंतजार करने वालों में मास्टर, लेक्चर, हेडमास्टर और प्रिंसिपल सभी शामिल हैं।