Pages

Tuesday, June 10, 2014

फेसबुक पर अपलोड होगी प्रशिक्षण की रिपोर्ट

पानीपत: मुख्यमंत्री शिक्षा दीक्षा योजना को प्रभावी बनाने में स्कूल इंचार्ज अहम रोल अदा करेंगे। शिक्षण कार्यो में गुणवत्ता निखारने का उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण की दैनिक रिपोर्ट फेसबुक पर अपलोड होगी। शिक्षा महकमे के संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारी प्रशिक्षण कार्य की मॉनिटरिंग करेंगे। शैक्षणिक सत्र 2014-15 से सरकारी स्कूलों में मुख्यमंत्री शिक्षा दीक्षा योजना लागू की गई है। योजना को साकार करने के लिए प्रत्येक जिले में चेंज मैनेजमेंट वर्कशॉप लगाया जाएगा। वर्कशॉप में 100-120 इंचार्जो को समूह में शिक्षण कार्यो में गुणवत्ता निखारने का प्रशिक्षण मिलेगा। प्रदेश के जिन जिलों में राजकीय विद्यालयों की संख्या 850 से अधिक है वहां पर 100-100 के दो समूह एक साथ चलाए जाएंगे। वर्कशॉप में प्रशिक्षक विभाग की तरफ से उपलब्ध कराए जाएंगे। प्रशिक्षण कार्य बड़े हॉल में संपन्न कराने को लेकर मौलिक शिक्षा निदेशालय से जिला उपायुक्तों को पत्र भेजा गया है। प्रशिक्षण हॉल में प्रोजेक्टर व साउंड सिस्टम की समुचित व्यवस्था होना अनिवार्य है। प्रत्येक दिन कार्यशाला का उद्घाटन डीसी, एडीसी व एसडीएम सहित अन्य किसी उच्चाधिकारी से करवाने के निर्देश दिए गए हैं। ई-मेल से भेजेंगे रिपोर्ट प्रशिक्षण कार्य की दैनिकी रिपोर्ट प्रत्येक जिले के फेसबुक पेज पर अपलोड करने की हिदायत दी गई है। शिक्षा निदेशालय, मौलिक शिक्षा निदेशालय व एसपीडी कार्यालय को भी ई मेल के माध्यम से सूचित करेंगे। प्रशिक्षण कार्य के लिए जिला शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में कमेटी गठित की जाएगी। प्रशिक्षण का कार्यक्रम 21 जिलों में तीन चरणों में प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। कार्यक्रम का ब्योरा इस प्रकार है। जिले के नाम तिथि 1. मेवात व गुड़गांव 11-14 जून 2.अंबाला, कैथल, कुरुक्षेत्र पंचकूला, यमुनानगर, जींद भिवानी, हिसार, सिरसा व फतेहाबाद 16-22 जून 3.महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, फरीदाबाद, पलवल, झज्जर, करनाल, रोहतक, पानीपत व सोनीपत 23 से 29 जून निदेशालय से भेजा पत्र वर्कशॉप के आयोजन को लेकर मौलिक शिक्षा महानिदेशक कार्यालय से सभी डीईओ, डीईईओ व डीपीसी को पत्र 1/73-2014-आरटीई (1) जारी किया गया है। पत्र में कहा गया है कि वर्कशॉप में प्रतिनिधित्व करने के लिए उप निदेशक व संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारी प्रत्येक जिले में मौजूद रहेंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रम सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक चलेगा। सरकारी स्कूल के इंचार्जो को यह वर्कशॉप अटैंड करना अनिवार्य है। जिला स्तर पर तैनात शिक्षा महकमे के अधिकारी स्कूल इंचार्जो की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए संयुक्त रूप से जिम्मेदार होंगे।