Pages

Saturday, August 22, 2015

एचटेट (HTET) स्‍थगित हुई, अब अक्‍टूबर में होगी

चंडीगढ़। हरियाणा पात्रता परीक्षा (एचटेट) स्थगित कर दी गई है। यह परीक्षा 30 व 31 अगस्त को होनी थी। अब यह अक्टूबर में होगी, हालांकि इसी तिथि की घोषणा अभी नहीं की गई है। यह निर्णय दिल्ली में श्ािक्षामंत्री रामबिलास शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में किया गया। इस परीक्षा की सारी तैयारी हो गई थी, ऐसे में इसकी तिथि आगे बढ़ाने से हरियाणा विद्यालय परीक्षा बोर्ड को भारी नुकसान होगा।
अक्टूबर में स्कूलों में बोर्ड की सेमेस्टर परीक्षा भी हाेनी है। ऐसी हालत मेें इस परीक्षा के आयोजन के लिए बोर्ड को एचटेट परीक्षा के आयोजन के लिए खासी माथापच्ची करने पड़ेगी। पात्रता परीक्षा में उम्मीदवारो का परीक्षा सेंटर उनके गृह जिले में ही होगा। यह परीक्षा आगे खिसक जाने से उम्मीदवारों का भारी नुकसान होगा। 21 अगस्त से पीजीटी भर्ती के आवेदन भी शुरू हो गए हैं। जितनी देरी से ये परीक्षा होगी नई भर्ती भी उतनी ही देरी से होगी।
परीक्षा केंद्र को लेकर शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा की पिछले दिनों घोषणा के बाद गतिरोध पैदा हुआ था। रामबिलास शर्मा ने कहा था कि एचटेट के परीक्षा केंद्र उम्मीदवारों के गृह जिलों में ही होंगे। हरियाणा विद्यालय परीक्षा बोर्ड के अधिकारियों का कहना था कि परीक्षा की सारी तैयारियों पूरी हो चुकी हैं, ऐेसे में अगले साल से ही इस व्यवस्था को लागू किया जा सकता है।
मंत्री की जिद की जीत
हरियाणा शिक्षक पात्रता परीक्षा (एचटेट) के परीक्षा केंद्रों में बदलाव को लेकर गतिरोध पिछले कई दिनों से बना हुआ था। शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा परीक्षा केंद्र परीक्षार्थियों के अपने गृह जिले में करने के अपने एलान को किसी कीमत पर मूर्तरूप देना चाहते थे। उनकी घाेषणा के बाद हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने बड़ नुकसान का हवाला देकर इसे आगे से लगाू करने की बात कही थी, लेकिन आखिर मंत्री की जिद की जीत हुई।
बोर्ड के चेयरमैन टीसी गुप्ता ने शुक्रवार को कहा था कि शिक्षा मंत्री की बात पर विचार किया जा रहा है लेकिन फिलहाल यह मुश्किल है। शिक्षामंत्री का टेलीफोन आया था, लेकिन उनका कोई लिखित आदेश हमारे पास नहीं है। फिर भी इस पर विचार करेंगे। लेकिन अब यह मुश्किल है क्योंकि समय बहुत कम बचा है। हां, अगले सत्र के लिए जरूर इस पर विचार किया जा सकता है। अगर अभी बदलाव किया जाता है तो बोर्ड पर करीब दस करोड़ रुपये का नुकसान होगा।
शिक्षा मंत्री ने बुलाई बैठक
इस मामले में शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा अफसरों के रुख पर सहमत नजर नहीं आए और उन्होंने शनिवार को नई दिल्ली में शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक बुला ली। इस बैठक में परीक्षा को स्थगित करने का निर्णय सुना दिया गया।
इस परीक्षा में प्रदेश से करीब साढ़े चार लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे। शिक्षा बोर्ड केंद्र तय करने के साथ परीक्षार्थियों को रोल नंबर भी जारी किए जा चुके थे। बोर्ड चेयरमैन का कहना था कि परीक्षा के लिए सारी व्यवस्था करने में तीन माह का समय लगता है, वह केवल एक सप्ताह में करना संभव नहीं है।

एआइपीएमटी की तर्ज पर होनी थी परीक्षा
परीक्षा का आयोजन एआइपीएमटी की तर्ज पर होगा और उसी तर्ज पर केंद्रों पर चौकसी बरती जाएगी। लेकिन नई स्थिति के बाद इस पर सवाल उठ गए हैं

http://m.jagran.com/haryana/panchkula-12769782.html